Posts

Showing posts from June, 2020

Atomic Habit in Hindi Audio Book Introduction

Image
Atomic Habit - Introductionआज हम संसार भर में मशहूर बुक एटॉमिक हैबिट के बारे में बात कर रहे है जिसे जेम्स क्लियर ने लिखा है. यह हमें सिखाती है कि मानव कैसे अपनी आदतों में छोटे-छोटे बदलाव करके जीवन में मनचाहे अद्भुत परिणाम हासिल कर सकता है.लेखक पुस्तक कि शुरुआत अपने बचपन के व्यक्तिगत अनुभवों से करते हुए अपने four-step विचार को 6 पार्ट्स के माध्यम से 20 चैप्टर्स में बहुत विस्तार से समझाते है.Atomic Habits Videoलेखक यानि कि जेम्स क्लियर लिखते है कि हाई स्कूल के उनके दुसरे वर्ष के अंतिम दिन, जब वे अपने दोस्तों के साथ बेसबॉल खेल रहे थे, तभी अचानक से बॉल को हिट करने के लिए उनके दोस्त ने बल्ला जब जोर से घुमाया तो वह उसके हाथों से फिसल गया और लेखक की आंखों के बीच में नाक पर लगा। वो लिखते है कि जब बल्ला उनकी नाक पर लगा था उस क्षण के प्रभाव उन्हें आज भी याद नहीं आते कि आखिर अचानक से हुआ क्या था।बल्ला उनके चेहरे पर इतनी ताकत से लगा कि उसकी चोट से नाक बुरी तरह से विकृत हो गया था। यह चोट इतनी जबर्दस्त थी कि लेखक का माथा, खोपड़ी के अंदर धंस गया। इसे याद करते हुए उन्होंने लिखा है कि तुरंत, ही एक सुजन…

Think and Grow Rich in Hindi Audiobook

Image
नेपोलियन हिल अपने उन सिद्धांतों के लिए जाने जाते है जिनसे किसी के भी जीवन को बेहतर बनाया जा सके। जब उन्हें एंड्रयू कार्नेगी के साक्षात्कार का असाइनमेंट मिला, जो उस समय के सबसे अमीर और प्रभावशाली लोगों में से एक थे। कार्नेगी ने हिल को चुनौती दी कि वे सफलता के एक ऐसे सरल फॉर्मूले कि खोज करें जिसे सामान्य इंसान आजमाकर अपनी मनचाही दौलत हासिल कर सके। इसके लिए वे अन्य धनी और सफल लोगों का साक्षात्कार लें। जिसका नतीजा है, थिंक एंड ग्रो रिच।
यह पुस्तक न केवल सभी समय की पर्सनल डेवलपमेंट की पुस्तकों में सबसे अधिक बिकने वाली बनी है, बल्कि इसके माध्यम से  टोनी रॉबिंस, जॉन मैक्सवेल, ब्रायन ट्रेसी, बॉब प्रॉक्टर और कई अन्य लोगों सहित अन्य सफल लोगों के लिए प्रेरणा बन गयी है, और उनके द्वारा इसकी अत्यधिक सिफारिश भी की गई है।
Think and Grow Rich Audiobook.mp3
इस पुस्तक में नेपोलियन हिल द्वारा बताये गए 13 सिद्धांत हैं। जिनके पास पुस्तक को पढ़कर यह जानने का समय नहीं है कि हिल के द्वारा बताये गए इन अद्भुत सिद्धांतों से लाभ उठाना चाहते हैं। आज हम इस पुस्तक में दिए गए इन सभी 13 सिद्धांतों के सारांश के बारे में बा…

Why are Indian managers so damn good?

Image
सत्य नडेला (Microsoft), सुंदर पिचई (Google), इंद्रा नूई (Pepsico), शांतनु नारायण (Adobe), नितिन नहरिया (हार्वर्ड बिज़नेस स्कूल) आदि दुनियां के वे जाने-माने नाम है जिन्हें आज हर कोई जानता है, ऐसे ही और अनगिनत नाम है जिन्हें हम और आप कम ही जानते है, लेकिन उन्हें उनके क्षेत्र में दुनियां बखूबी पहचानती है। वे उन विश्व प्रसिद्ध कंपनियों के सफल लीडर हैं, जो दुनिया में रहने वाले हर इंसान के जीवन को किसी न किसी तरह प्रभावित करते हैं। इसके अलावा ये ऐसे लीडर हैं जिनके भारत के शुरुआती परवरिश का असर, उनके जीवन के अनुभवों और शिक्षा का एक महत्वपूर्ण घटक बना रहा है। ये “मेड-इन-इंडिया मैनेजर” हैं।
लगभग एक साल पहले रंजन बैनर्जी और आर गोपालकृष्णन दोनों ने इस घटना पर चर्चा शुरू की, जैसा कि बैनर्जी अपने ब्लॉग पोस्ट में लिखते है:
“हमने कई ऐसे लोगों से बात की, जिनके साथ हमने एमबीए और इंजीनियरिंग का अध्ययन किया था, जो आज दुनिया भर कि बेहद सफल कंपनियों में उच्च मैनेजमेंट के पदों पर आसीन है। हमने उनसे पूछा "कैसे", और क्या वे “मेड-इन-इंडिया” मिशन कि मदद से आज वहां हैं?"
सफल अनिवासी भारतीयों के भारत…